IIT ki fees kitni hai | IIT fees | IIT Kya hai

अगर कोई भी विद्यार्थी इंजीनियर की पढ़ाई करना चाहता है तो उसके लिए IIT सबसे बेहतर इंस्टिट्यूट माना जाता है। मौजूदा वक्त में भारत में कुल 23 IIT हैं जिस में एडमिशन लेने के लिए हर साल लाखों विद्यार्थी अप्लाई करते हैं लेकिन उसमें से कुछ ही विद्यार्थी IIT में एडमिशन लेने में सफल होते हैं। तो आज हम बात करेंगे कि IIT kya hai, IIT fees और IIT 2021 ki tyaari kaise kare और साथ ही हम बात करेंगे कि 2021 IIT mai admission kese lei और iit ki fees kitni hai पूरी जानकारी तो चलिए शुरू करते हैं। 

IIT kya Hai | IIT ki fees kitni hai


IIT एक ऐसा कॉलेज है जो विद्यार्थियों को इंजीनियर की उच्च शिक्षा प्राप्त करवाता है और पहला IIT कॉलेज खड़कपुर के नाम से बना था जिसकी स्थापना 1951 में हुई थी। और अगर अब बात करें तो भारत के पास कुल 23 IITs है। IIT में प्रवेश करने के लिए विद्यार्थियों को एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई करना होता है। यहां से engineering करने के बाद लोग करोड़ों का पैकेज पाते हैं। IIT अच्छे-अच्छे engineer बनाती है जो देश विदेश में जाकर बड़ी-बड़ी कंपनियों के साथ मिलकर काम करते हैं।

यह भी पढ़े : Top Colleges Through JEE Mains Rank

IIT ki fees kitni hai 2021 ( आईआईटी की फीस )

> IIT में बीटेक करने का पूरा खर्चा सालाना (iit total fees for 4 years) 1,50,000 से 2,00,00 तक आ जाता है।

> अगर किसी विद्यार्थी का घर की सालाना इनकम एक लाख से कम है तो उनके लिए IIT fees बिल्कुल मुफत है और वही जिनकी सालाना इनकम 1,00,000 से 5,00,000 के बीच है उन्हें फीस का आधा तिहाई हिस्सा देना पड़ता है और यह सभी कैटेगरी यानी जनरल ओबीसी पर लागू होता है।

> और हॉस्टल की फीस, मेस फीस, खाने-पीने का खर्चा, मेडिकल फीस यह सभी विद्यार्थियों को चुकाना अनिवार्य है इसमें कोई तरह की कटौती नहीं की जाती।

 > SC / ST  वर्ग के विद्यार्थियों को उनके घर की सालाना आय के हिसाब से IIT fees में छूट दी जाती है लेकिन फिर भी उन्हें हॉस्टल का खर्चा और मैस फीस देनी पड़ती है।

Name of Institutes     |    IIT Fees(per/year)


Indian Institute of
Technology (BHU), Varanasi        1,32,750

Indore Indian Institute
of Technology, Guwahati             1,45,780

Indian Institute of
Technology, Bhilai                        1,51,400

Indian Institute of
Technology, Goa                           1,37,876

Indian Institute of
Technology, Palakkad                  1,40,200

Indian Institute of
Technology, Tirupati                   1,46,450

Indian Institute of
Technology, Bhubaneswar              1,43,000

Indian Institute of
Technology, Bombay                         1,25,700

Indian Institute of
Technology, Mandi                            1,32,750

Indian Institute of
Technology, Patna                          1,15,900

Indian Institute of
Technology, Delhi                              1,24,550

Indian Institute of
Technology, Indore                           1,28,650

Indian Institute of
Technology, Kharagpur                   1,42,900

Indian Institute of
Technology, Hyderabad                  1,33,560

Indian Institute of
Technology, Roorkee                    1,38,480

Indian Institute of
Technology, Ropar                        1,13,650

Indian Institute of
Technology, Jammu                    1,24,450

Indian Institute of
Technology, Dharwad                 1,42,800

Indian Institute of
Technology, Jodhpur                      1,40,100

Indian Institute of
Technology, Kanpur                       1,24,617

Indian Institute of
Technology, Madras                       1,37,180

Indian Institute of
Technology, Gandhinagar             1,45,500


       IIT ka full full kya hota hai


Full form of IIT is explained by

        " Indian Institute for Technology "


       IIT ko hindi mai kya khete hai


                "भारतीय प्रोद्योगिकी  संस्थान"

Engineer क्या होता है और यह क्या काम करता है ?

जब विद्यार्थी 12वीं कक्षा पास कर लेता है तब वे बी.टेक (B-Tech) के माध्यम से इंजीनियरिंग करता है और उसके बाद जब वह अपनी डिग्री पूरी कर लेता है तब उसे इंजीनियर कहा जाता है। अगर बात करें Engineer ka kya kam hota hai तो इंजीनियर कई कई तरह के होते हैं क्योंकि इंजीनियरिंग के अनगिनत क्षेत्र है जहां विद्यार्थी अपनी रूचि के अनुसार stream पसंद करता है और उसी स्ट्रीम का इंजीनियर बनता है। जैसे उदाहरण के लिए कोई Automobile engineer है तो वह है Automobile को बनाने का काम करता है और जैसे कोई architected इंजीनियर है तो वह डिजाइन बनाने का काम करता है।

IIT kaise kare

अगर IIT में एडमिशन लेने के लिए योग्यता को देखा जाए तो सबसे पहली योग्यता है कि विद्यार्थी 10 + 2 पास होना चाहिए और साथ ही साथ आपके पास साइंस स्ट्रीम होनी चाहिए जहां उसको पी.सी.एम (PCM= physics chmistry maths) से बोर्ड परीक्षा पास करनी होगी और आपके पास कम से कम 75% 12वीं के बोर्ड में होनी चाहिए। और जो समय-समय पर बदलता भी रहता है तो आप इसका भी ध्यान रखें।

IIT Jee Exam kya hai

अगर आप  IIT से अपना इंजीनियर का कोर्स करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होगा। पहले  Jee mains और बाद में Jee advance देना होगा । पहले जाते हैं Jee mains kya hai और यह किस तरीके का  पेपर होता है उसके बाद जानेगे के लिए Jee advance paper कौन कौन दे सकता है।

Paper-1 of Jee mains

यह पेपर 3 घंटे का होता है जिसमें विद्यार्थियों से भौतिक विज्ञान यानी फिजिक्स (physics), गणित यानी मैथ्स(maths) और रसायन विज्ञान यानी केमिस्ट्री (chemistry) के प्रश्न पूछे जाते हैं । पेपर हिंदी और अंग्रेजी दोनों ही भाषाओं में उपलब्ध है । उम्मीदवार या विद्यार्थी अपनी जरूरत के हिसाब से आवेदन पत्र भरते समय इसका चयन करता है । आपके हर एक सही जवाब पर आपको इसके चार अकं दिए जाएंगे और आप वही प्रश्न हल कीजिए जो आपको अच्छे से आता है क्योंकि हर एक गलत जवाब पर आप का एक अंक काट लिया जाएंगा यानी आपको इसमें नेगेटिव मार्किंग (negative marking) का भी ध्यान रखना होगा।

> विषय                  प्रश्न                अकं

> भौतिक                 25                100
> रसायन                 25                100
> गणित                  25                 100

 > कुल                    75                 300

Paper-2 of Jee mains

यह पेपर 3 घंटे का होता है और विकलांग विद्यार्थियों के लिए 4 घंटे का समय दिया जाता है। जिसमें विद्यार्थियों से ड्राइंग एप्टिट्यूड और गणित के प्रश्न पूछे जाएंगे। यह पेपर B.Arch और B.Plan में एडमिशन लेने के लिए होता है ।  Jee mains paper-1 की तरह यह भी दोनों भाषाओं में उपलब्ध है। हर एक सही जवाब पर आपको चार नंबर दिए जाएंगे जबकि एक गलत जवाब पर आपके वन फोर्थ ¼ नंबर काट लिए जाएंगे। तो जब भी आप पेपर करें तो आप सिर्फ उन्हीं सवालों का जवाब दीजिए जो आपको सटीकता से पता है। 

B.Arch Exam Pattern 

>  विषय                  प्रश्न                अकं

>  गणित                  25                100
>  एप्टिट्यूड              50                200
>   ड्राइंग                   2                 100

>   कुल                    82                400

B.Plan Exam Pattern 

>  विषय                  प्रश्न                अकं

>  गणित                  25                100
>  एप्टिट्यूड              50                200
>  प्लानिंग टेस्ट          25                100

>   कुल                    150                400

Jee advance paper pattern

अगर आपको IITs में एडमिशन लेना है तो  Jee mains paper पास करने के बाद Jee advance paper  को भी पास करना होगा तभी आप एक IIT institute में दाखिला ले सकते हैं।

यह परीक्षा भी 3 घंटे की होती है जो पूरी कंप्यूटर आधारित परीक्षा होती है। इसमें भी विद्यार्थियों से भौतिक विज्ञान (physics) गणित (maths) और रसायन विज्ञान (chmistry)से प्रश्न पूछे जाते हैं यह भी दो पेपरों में डिवाइडेड है।

आईआईटी की तैयारी कैसे करें 

अगर आपका लक्ष्य है कि आपको आईआईटी से इंजीनियरिंग करनी है तो आपको 11वीं और 12वीं की कक्षा से इसकी तैयारी शुरू कर देनी होगी आप ऐसा मानकर चल दीजिए कि 11वीं और 12वीं को अगर आपने ढंग से पढ़ लिया तो आपको आईआईटी में प्रवेश पाने में कोई परेशानी नहीं होगी क्योंकि Jee में 11वीं और 12वीं कक्षा से ही प्रश्न पूछे जाते है।

IIT kitne saal ka hota hai 

IIT में इंजीनियर का कोर्स 4 साल का होता है और अगर आप Btech कर रहे हैं तो यह 4 साल की होगी अगर आप Btech + Mtech कर रहे हैं तो यह 5 साल का होगा और अगर आप अकेला Mtech कर रहे हैं तो यह 2 साल का होता है।

इंजीनियरिंग करने के फायदे 

●  आसानी से जॉब प्लेसमेंट

सबसे पहला और सबसे महत्वपूर्ण फायदा होता है IIT से इंजीनियरिंग करने का वह है " Placements " जैसे ही आप IIT से इंजीनियर बन कर बाहर निकलते हैं तो कंपनियां आपको नौकरी के लिए ज्यादा महत्वता देंगी और इसके अतिरिक्त आपको अच्छी खासी सैलरी भी मिल जाती है। आईआईटी से कुछ बच्चों का पैकेज करोड़ों में भी लग जाता है। 

●  आदर और सम्मान

IIT से Btech करना एक अपने आप में ही गर्व की बात है तो जब भी आप IIT से पढ़ कर आते हैं तो आपकी सोसाइटी आपके मोहल्ले में आपका बहुत आदर सम्मान बढ़ जाता है क्योंकि आप वह उच्च इंजीनियरिंग की शाखा से पढ़कर आए हैं जहां विद्यार्थी पढ़ने का सपना देखते हैं।

●  ब्रांड से पढ़ाई करना

IIT बहुत प्रतिष्ठित कॉलेज है और अगर आप यहां से  इंजीनियरिंग करते हैं तो आपका आत्मविश्वास बहुत बढ़ जाता है। क्योंकि यहां पर विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ-साथ में हर एक चीज सिखाई जाती है जो उन्हें एक जिंदगी में अच्छा इंसान बनाए । यानी आपकी यहां पर ओवरऑल डेवलपमेंट की जाती है तो ऐसे में जब आप IIT से ग्रेजुएट होते हैं और बाहर कहीं जॉब ढूंढने जाते हैं तो कंपनियां आपको झट से नौकरी पर रख लेती है क्योंकि IIT एक ब्रांड कि तरह काम करता है और कंपनियां यह सोचती हैं कि IIT से पढ़ा हुआ विद्यार्थी हर एक काम और मुसीबत को संभालने में सक्षम होगा।

हमें आशा है कि आपको IIT ki fees kitni hai  और IIT fees Structure,  IIT fess  इसकी जानकारी प्राप्त  मिल गई होगी।