Bsc Computer science kya hai,eligibility, fees, scope, salary| बीएससी कंप्यूटर साइंस की जानकारी

जैसे कि हमें पता है कि कंप्यूटर की पढ़ाई में दो तरह की चीजें होती है हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर। बीएससी कंप्यूटर साइंस में आपको कंप्यूटर सॉफ्टवेयर पर पढ़ाया जाता है।और अगर आपको हार्डवेयर की पढ़ाई करनी है तब आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग कर सकते हैं। आज हम बात करेंगे बीएससी कंप्यूटर साइंस के बारे में जिसमें कि आपको सिर्फ सॉफ्टवेयर के बारे में ही पढ़ाया जाता है। तो चलिए जानते हैं बीएससी कंप्यूटर साइंस की जानकारी ।

•  Bsc Computer science Kya hai 

अगर आपकी रुचि कंप्यूटर सॉफ्टवेयर में है तब यह कोर्स आपके लिए है क्योंकि इसमें आपको सिर्फ सॉफ्टवेयर के बारे में ही पढ़ाया जाएगा जिन विद्यार्थियों के पास से कंप्यूटर हार्डवेयर की दो की जानकारी होती है उनके लिए जॉब के अवसर कम होते हैं उनसे जिनके पास सॉफ्टवेयर कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की जानकारी होती है।

बीएससी कंप्यूटर साइंस कोर्स 3 साल का होता है। जोकि अंडर ग्रेजुएशन कोर्स होता है। 3 साल के दौरान आपको 6 सेमेस्टर में कंप्यूटर साइंस कोर्स पढ़ाया जाएगा। इस कोर्स के दौरान आपको कंप्यूटर एप्लीकेशन और सर्विस के बारे में पढ़ाया जाता है।

Bsc Computer science hindi

•  बीएससी कंप्यूटर साइंस के लिए योग्यता ( Bsc CS Eligibility )

अगर कोई विद्यार्थी बीएससी कंप्यूटर साइंस करना चाहता है तो सबसे पहले उसकी किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा पास होनी चाहिए।

अगर कोई विद्यार्थी दसवीं कक्षा पास है और उसने किसी टेक्निकल फील्ड में 3 साल का डिप्लोमा किया है तब भी वह बीएससी कंप्यूटर साइंस मे एडमिशन ले सकता है। इससे आपको बीएससी कंप्यूटर साइंस के सीधा दूसरे साल में एडमिशन मिल जाएगा। भारत में ज्यादातर सभी कॉलेज आपको बीएससी कंप्यूटर साइंस करवाते हैं। ज्यादातर यूनिवर्सिटी और कॉलेज में बीएससी कंप्यूटर साइंस के लिए आपका एडमिशन मेरिट बेस पर होता है। हर साल कॉलेज cut off लिस्ट जारी करते हैं। जो विद्यार्थी cut off को पूरा करते हैं उन्हें  कॉलेज में एडमिशन मिल जाता है। 

•  बीएससी कंप्यूटर साइंस फीस ( Bsc CS fees )

बीएससी कंप्यूटर साइंस की फीस निर्भर करती है कि आप सरकारी कॉलेज या फिर प्राइवेट कॉलेज से पढ़ाई कर रहे हैं। सरकारी कॉलेज में बीएससी कंप्यूटर साइंस करने की फीस कम होती है। अगर हम प्राइवेट कॉलेज की बात करें तो इसमें आपको काफी खर्चा आ जाएगा।

सरकारी कॉलेजेस में बीएससी कंप्यूटर साइंस की फीस 15 से 30 हजार तक सालाना हो सकती है। इसी तरह आप की 3 साल की फीस 1 लाख तक हो सकती है।

प्राइवेट कॉलेज में बीएससी कंप्यूटर साइंस की फीस 60,000 से 100000 तक हो सकती है यानी आपको 3 साल की बीएससी कंप्यूटर साइंस करने में तीन लाख तक का खर्चा सकता है

यह भी पढें :  बीएससी के बाद क्या करें | courses after bsc

•  बीएससी कंप्यूटर साइंस जॉब्स ( Bsc cs jobs )

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों को आसानी से जाॅब मिल जाती है। इसमें एक Fresher भी अच्छी जॉब लग सकता है यानी जिनके पास नौकरी का कोई अनुभव भी नहीं है। ज्यादातर लोग सोचते हैं कि कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की पढ़ाई करने के बाद आपको आईटी (IT) में ही जाॅब के अवसर मिलते हैं लेकिन ऐसा नहीं है बहुत सारे और क्षेत्र है जहां आप जाॅब कर सकते हैं jobs after bsc Computer science 

▪︎  डाटा पब्लिशिंग

▪︎  फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट कंसलटेंसी

▪︎  कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग

▪︎  रिसर्च और डेवलपमेंट

▪︎  स्कूल और कॉलेज में प्रोफेसर 

▪︎  प्राइवेट ट्यूशन 

▪︎  सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट 

▪︎  इंश्योरेंस एजेंसी 

▪︎  सिक्योरिटी सर्विस कंपनी 

▪︎  सिस्टम मैनेजमेंट

▪︎  कंप्यूटर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स डेवलपमेंट

▪︎  मैन्युफैक्चिरिंग

•  बीएससी कंप्यूटर साइंस सैलेरी ( Bsc cs salary )

आप की शुरुआती सैलरी यह आपकी कंपनी पर निर्भर करती है और साथ ही आपके अनुभव पर निर्भर करती है कि आपके पास कितने साल का काम का अनुभव है। अगर लगभग बात करें तो आपकी शुरुआती सैलरी 3 लाख से 7 लाख तक साल की हो सकती है। जैसे-जैसे आपका काम का अनुभव बढ़ता जाएगा वैसे ही आपकी सैलरी भी बढ़ती जाएगी।

•  बीएससी कंप्यूटर साइंस के बाद क्या करें ( courses after bsc Computer science )

बीएससी कंप्यूटर साइंस करने के बाद आप प्राइवेट या सरकारी क्षेत्र में नौकरी कर सकते हैं। इस के साथ-साथ अगर आप आगे पढ़ाई करना चाहते हैं तब भी आपके पास बहुत सारे विकल्प उपलब्ध रहते हैं। 

▪︎  पोस्ट ग्रेजुएशन इन कंप्यूटर साइंस 

▪︎  एमबीए ( MBA ) 

▪︎  आईटी ( IT )

▪︎  एमएससी (MSC) कंप्यूटर साइंस


टिप्पणियाँ