UPSC Meaning in Hindi | UPSC Kya Hota Hai और UPSC ke liye qualification?

Upsc Meaning in hindi | upsc ke liye kya qualification chahiye


UPSC Meaning in Hindi | UPSC Kya Hota Hai 


Union Public Service Commission ( UPSC ) :  यूपीएससी यानी यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन की स्थापना 26 अक्टूबर 1950 को हुई थी। यूपीएससी को हिंदी में संघ लोक सेवा आयोग कहा जाता है। यूपीएससी एक केंद्रीय संस्था है। यूपीएससी का काम प्रथम श्रेणी  ( Group  A ) और द्वितीय श्रेणी ( Group B ) के अधिकारी को चयन करना होता है। यूपीएससी द्वारा ही IAS, IFS जैसी पोस्ट पर चयन होता है।

•  PSC kya hota hai 


PCS ki full form : पब्लिक सर्विस कमीशन जिसे हिंदी में लोक सेवा आयोग कहा जाता है। PCS की स्थापना 1 अक्टूबर 1926 में हुई थी। पीसीएस द्वारा Group A and Group B के अधिकारियों की भर्ती की जाती थी। 26 अक्टूबर 1950 को पीसीएस में कुछ बदलाव कर और इसका विस्तार कर एक नया आयोग बनाया था जिसका नाम संघ लोक सेवा आयोग रखा गया जिसे यूपीएससी कहा जाता हैं।

•  All UPSC Exam List


संघ लोक सेवा आयोग भारत की केंद्रीय संस्था है। यह संस्था सिविल परीक्षा IAS, IFS, NDA, CDS जैसे लगभग 24 पदों के लिए परीक्षा का आयोजन करवाता है। और यह भारतीय और केंद्रीय समूह के Group A और Group B के कर्मचारी होते हैं।  यह कुछ परीक्षा है जो यूपीएससी आयोजित करवाती है :

•  सिविल सर्विस एग्जाम ( CSE )

•  स्पेशल क्लास रेलवे प्रशिशु  ( SCRA )

•  इंजीनियरिंग सर्विसेज एग्जामिनेशन ( ESE )

•  कंबाइंड डिफेंस सर्विस एग्जाम ( CDSE )

•  नेशनल डिफेंस एग्जाम ( NDA )

•  इंडियन फॉरेस्ट सर्विस ( IFS )

•  इंडियन एडमिनिस्ट्रेशन सर्विस ( IAS )

यह भी पढ़े   :   IAS क्या है और कैैैसे बने 

तो हमने यह जान लिया कि यूपीएससी कौन कौन से एग्जाम कंडक्ट करवाता है। तो अब हम यह जानते हैं कि यूपीएससी  एग्जाम कौन दे सकता है (Eligibility for Upsc Hindi )।


•  UPSC (यूपीएससी ke liye kya qualification Chahiye

1.  UPSC के लिए योग्यता 


यूपीएससी शैक्षणिक योग्यता -  अगर आप यूपीएससी का एग्जाम देना चाहते हैं तो आपके पास शैक्षणिक योग्यता ग्रेजुएशन की होनी चाहिए। यहां ग्रेजुएशन किसी भी फील्ड से की जा सकती है। ऐसे विद्यार्थी जो ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष या आखिरी सेमेस्टर में पढ़ाई कर रहे हैं वह भी यूपीएससी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

2.  UPSC Age Limit In Hindi 


यूपीएससी की परीक्षा देने के लिए यह उम्र सीमा निर्धारित की गई है :

•  सामान्य वर्ग -  सामान्य वर्ग के विद्यार्थी की उम्र सीमा 21 वर्ष होनी चाहिए और अधिकतम 32 वर्ष हो सकती है।

SC / ST - के विद्यार्थी की उम्र सीमा 21 वर्ष होनी चाहिए और अधिकतम 37 वर्ष हो सकती है। इसमें सामान्य वर्ग से 5 वर्ष की अतिरिक्त छूट मिलती है।

पिछड़ा वर्ग (OBC) - अन्य पिछड़े वर्ग के लिए सामान्य वर्ग से 3 वर्ष की अतिरिक्त छूट मिलती है।

• UPSC Age Limit for General - 21 to 32 Years 

• UPSC Age Limit for SC/ST - 21 to 32 + 5 Years 

• UPSC Age Limit for OBC - 21 to 32 + 3 Years

  

3.  यूपीएससी परीक्षा के मौके | Number of Attempts For UPSC 


अगर आप सामान्य श्रेणी के विद्यार्थी हैं तब आप 6 बार यूपीएससी की परीक्षा दे सकते हैं। ओबीसी/ OBC के विद्यार्थी 9 बार और अन्य श्रेणी के विद्यार्थी असीमित यानी जितनी बार चाहे उतनी बार यूपीएससी का एग्जाम दे सकते हैं।

• UPSC Attempt for General - 6 Attempts 

• UPSC Attempt for SC/ST - 9 Attempts 

• UPSC Attempt for OBC - No limit


•   यूपीएससी परीक्षा की प्रक्रिया


यूपीएससी में आपके एग्जाम तीन भागों में होते हैं। पहला और दूसरा भाग लिखित परीक्षा होती है। वहीं तीसरा इंटरव्यू होता है। यह तीन भाग है : 

•  प्रारंभिक परीक्षा / Preliminary exam

•  मुख्य परीक्षा / Mains exam

•  साक्षात्कार / Interview


•  प्रारंभिक परीक्षा/ UPSC Preliminary exam - 

यह परीक्षा यूपीएससी के पहले भाग की परीक्षा होती है। यह परीक्षा जून-जुलाई के महीने में करवाई जाती है। इस परीक्षा में 2 पेपर देने होते हैं। जिसमें पहला पेपर है सामान्य अध्ययन ( General Studies-I  ) जो कि प्रथम प्रश्नपत्र के रूप में आता है।


दूसरा पेपर होता है Civil services aptitude Test or general studies-II । प्रत्येक पेपर 200 अंक का होता है। इसमें सभी प्रशन Objectice type होते हैं। प्रत्येक पेपर को हल करने के लिए आपको 2 घंटे का समय मिलता है यानी पूरा पेपर करने के लिए आपको 4 घंटे का समय मिलता है।


इसमें यह ध्यान देने वाली बात है कि इस परीक्षा का रिजल्ट फाइनल रिजल्ट में नहीं जोड़ा जाता लेकिन यह परीक्षा पास किए बिना आप Upsc Mains में नहीं बैठ सकते है।


•  मुख्य परीक्षा/ UPSC Mains exam


अगर विद्यार्थी UPSC Preliminary exam में पास हो जाता है तब वह UPSC Mains exam एग्जाम में बैठ सकता है। UPSC Mains परीक्षा को दिसंबर के महीने में आयोजित किया जाता है। इस परीक्षा में कुल 9 पेपर होते हैं। यह परीक्षा कुल 1750 अंक की होती है और प्रत्येक पेपर के लिए आपको 3 घंटे का समय दिया जाता है।


UPSC Mains Paper 1 -  यूपीएससी के सबसे पहले पेपर में आपको कुल 18 भारतीय भाषाओं में से किसी एक को चुन कर पेपर देना होता है। यह पेपर 300 अंक का होता है और इसमें 20 से 25 प्रसन्न होते हैं। यह भी ध्यान रहे कि इस पेपर में जो आपको अंक मिलेंगे वह फाइनल (final) रिजल्ट में नहीं जोड़े जाएंगे।


UPSC Mains Paper 2पहले पेपर में तो आप किसी भी भाषा को चुनकर वह पेपर दे सकते हैं लेकिन यह पेपर इंग्लिश का पेपर होता है। यह परीक्षा भी 300 अंक की होती है। इस परीक्षा के भी अंक फाइनल रिजल्ट में नहीं जोड़े जाते है।


UPSC Mains Paper 3 -  जो तीसरा पेपर होता है वह आपका essay writing यानी निबंध लेख का होता है। यह दो भागों में होता है। दोनों भागों में आपको एक-एक निबंध लिखना होता है। यह पेपर 250 अंक का होता है। इस परीक्षा के अंक फाइनल रिजल्ट में जोड़े जाते हैं।


UPSC Mains Paper 4,5,6,7 -  पेपर 4 से लेकर पेपर 7 में आपको 250 अंक के पेपर मिलते है। यह सभी पेपर आप की सामाजिक, आर्थिक, इतिहास, सविधान, राजनीतिक जैसे मुद्दों की समझ पर बनाए जाते हैं। 


UPSC Mains Paper 8,9 -  यह दो पेपर वैकल्पिक विषय के पेपर होते हैं यानी कि ऑप्शनल (optional) पेपर होते हैं। जिस विषय में आप ज्यादा समझ रखते हैं आप वह दो विषय चुनकर पेपर दे सकते हैं। प्रत्येक पेपर 250 अंक का होता है यानी यह कुल 500 अंक का पेपर होता है। इस परीक्षा के अंक फाइनल रिजल्ट में जोड़ते हैं। 


•  Upsc Interview / साक्षात्कार


इन दोनों परीक्षाओं को पास करने के बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। इंटरव्यू मार्च-अप्रैल के बीच में होता है। इंटरव्यू यानी साक्षात्कार यूपीएससी परीक्षा का अंतिम और बहुत ही महत्वपूर्ण चरण होता है। इंटरव्यू कुल 275 अंक का होता है। इंटरव्यू के अंक फाइनल रिजल्ट में जोड़े जाते हैं। विद्यार्थी इंटरव्यू अंगेजी, हिंदी या किसी क्षेत्रीय भाषा में दे सकते है।

•  यूपीएससी की तैयारी कैसे करें / UPSC Preparation 2021 


सबसे पहले आपको यह पता होना चाहिए कि यह परीक्षा काफी कठिन परीक्षा मानी जाती है और इसमें प्रतियोगिता भी बहुत ज्यादा होती है। बहुत सारे बच्चे सालों से इस परीक्षा की तैयारी करते हैं। आपको भी यूपीएससी की तैयारी कम से कम 1 साल पहले शुरू कर देनी चाहिए। यूपीएससी की तैयारी करने के लिए आप यह जरूर करें:

अच्छी कोचिंग सेंटर :  यूपीएससी की तैयारी करने के लिए और इसमें उच्च रैंक हासिल करने के लिए आपको एक अच्छे कोचिंग सेंटर में शामिल होना चाहिए।

इंटरनेट की मदद :  हालांकि हम यह मानते हैं कि किसी भी परीक्षा की तैयारी करते वक्त फोन से दूरी बनाना जरूरी है लेकिन अगर आप इंटरनेट का सही उपयोग करते हैं तो आप इसका बहुत लाभ उठा सकते हैं। आज YouTube पर बहुत सारे चैनल है जो आपको फ्री यूपीएससी कोचिंग करवाते हैं। और इसी के साथ-साथ आप इंटरनेट की मदद से Current Affairs के बारे में भी जानकारी लेते रहें। 

अखबार पढ़ें :  यूपीएससी परीक्षा में आपसे ऐसे प्रश्न भी पूछे जाते हैं जिससे कि यह पता चल सके कि आप अपने आस-पास हो रही घटनाओं को लेकर कितना जागरूक है। इसलिए आप नियमित रूप से अखबार पढ़ें

इसी के साथ साथ आप पिछले साल के यूपीएससी प्रश्न पत्र हल करें ताकि आपको यह जानकारी मिले कि यूपीएससी का पेपर कैसा होता है


टिप्पणियाँ

  1. Me aak chhote se Gao se hu kya me UPSC iski taiyari me safal Ho sakta hu me Sagar m.p. se aak gramid chhetra se Hu please mujhe jabab jarur de dena or coching jaruri hai kya aapka bahut bahut dhanyawad is jankari ke liye aabhi me 1fast year BSc se hu aabhi se prepration start kar du kya or koi bhi upsc IAS se reletib jankari mujhe jarur kare thank you Barrrry much for all team🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏📘📘📘📘📚📚📚📚📚📘📘📘📘📙📙📙📙📙🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

    जवाब देंहटाएं
  2. Apko bsc 1 year sai hi upsc ki tyari shuru kar deni hai aur coaching must hai apko ashi coaching leni hogi for 1 year after complete bsc . Also upsc is toughest exam so apko at least 12 hour din mai padna hoga and consistency maintaine karni hogi

    जवाब देंहटाएं